रणवीर सिंह का न्यूड फोटोशूट न हो गया इंटरनेशनल मुद्दा, जिसमें सबको अपनी राय देनी ही देनी है इतना तो दीपिका …..

 और आइये सुनात हैं आपको इस साल की सबसे बड़ी खबर –

1995 में प्राइम टाइम की सबसे तेज खबर थी मिलिंद सोमन और मधु सप्रे का न्यूड फोटोशूट। यह शूट दोनों ने एक जूते के विज्ञापन के लिए कराया था। इस फोटोशूट में दोनों ने सिर्फ पायथन माने की सिर्फ अजगर पहना था। दोनों पर खूब लम्बा केस भी चला लगभग पायथन जितना लम्बा तो चला ही पूरे 14 साल। कोर्ट ने दोनों को बरी कर दिया था। प्राइम टाइम फिर से निराश हो गया अब उसके सामने मुद्दा था कुछ ठोस दिखाने का कोई बढ़िया खबर दिखाने की जो की उनके पास थी ही नहीं। बीच-बीच में एक दो स्ट्रगलिंग एक्टर-एक्ट्रेस न्यूड होते रहें जैसे- वीर दास, पूनम पांडे , सनी लियोन और भी दो चार । लेकिन ये बेचारे प्राइम टाइम को सिर्फ दो-तीन दिन की ही रोटी जुटा कर दे सकें। भरपेट खाने के इंतजार में बैठी मीडिया को खूब छका कर खाना मिल रहा है इन दिनों रणवीर के न्यूड फोटोशूट से। 

पूरे देश में बिलकुल बवाल ही मचा पड़ा है। रणवीर सिंह पर धारा 292 , 293 धारा 509 और धारा 67A के खिलाफ fir दर्ज हुई है। इन धाराओं में अश्लीलता फैलाने के आरोप से लेकर महिलाओंं की गरिमा को आहत करने , उनकी भावनाओं को चोट पहुचानें तक के इल्जामात हैं। लेकिन मुझे समझ नहीं आता एक अकेला बंदा अपनी मर्जी का थोड़ा सा काम करके इतनी बड़ी भारतीय संस्कृति को कैसे प्रभावित कर सकता है। मैं मानती हूँ वो स्टार हैं लेकिन क्या एक स्टार पूरे आसमान पर अपना दबदबा बनाए रख सकता है? 

अरे भई बॉडी उनकी, केमरामैन उनका ,फोटो उनकी पैसा उनका तो हमें क्यों दर्द हो तकलीफ हो ? हमें तो वाकई में बैठ के बस अपनी आँखे सेंकनी चाहिए (जैसा की विद्या बालन ने कहा )। लेकिन नहीं हम टांग अड़ाए बिना बाज़ नहीं आएँगे। उसपर से मीडिया फ्रंट पेज पर ऐसी ऐसी हेडलाइन्स बना रही है भाई साहब की पूछिए ही मत! आम आदमी भूल ही गया की अभी कुछ दिन पहले दूध, दही, पनीर पर 5% gst लगाया गया है, सरसों के तेल पर, दालों पर बैठे महंगाई के नाग ने डसा है उन्हें , बच्चों के स्कूल की फीस बढ़ गई है , हाईकोर्ट ने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को फटकार लगाई है , पीएम मोदी द्वारा उद्घाटन किया गया बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस वे खुलने के 5 दिन में ही खराब हो गया। उसे तो बस याद रह गया है कि रणवीर सिंह ने कपड़े उतारकर अश्लीलता फैला दी है उसे सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए वरना देश का युवा बर्बाद हो जाएगा। ध्यान दीजिये देश का युवा बेरोजगारी से , महंगाई से , भ्रष्टाचारी से भले ना बर्बाद हो एक न्यूड फोटोशूट से वो जरूर बर्बाद हो जाएगा।

मैं अपनी बताऊँ तो सिर्फ इस जुर्म के लिए रणवीर को ही नहीं बल्कि जारवा , गोंड , सेंटिनल आदि जैसी जनजातियों को भी सजा मिलनी चाहिए जो छत्तीसगढ़, झारखंड, मध्यप्रदेश जैसे राज्यों में बड़ी संख्या में न्यूड रहतीं हैं दरअसल तो उनके यहाँ कपड़े पहनना ही अश्लीलता माना जाता है। कपड़ो के साथ वो प्रकृति से जुड़ाव नहीं महसूस करतें। सजा तो केरल के सिद्धा समाज मंदिर में आने वाले, पूजा करने वालों को भी मिलनी चाहिए जो वस्त्र को नहीं स्वीकारते। ओहो.. ओहो मैं जैन धर्म के दिगम्बरों को कैसे भूल सकती हूँ ! 


कुल मिलकर क्या जैन क्या, गोंड क्या जारवा इनकी अपनी कुछ संस्कृति मान्य नहीं है चलेगी तो सिर्फ भारतीय संस्कृति कपड़ो वाली।

और हाँ ! बात सिर्फ अश्लीलता फैलाने की थोड़ी हो रही है इससे महिलाओंं की भावनाये भी तो आहत हुई हैं । मैंने इस पॉइंट पर तो गौर ही नहीं किया की एक पुरुष के निर्वस्त्र होने से महिलाओंं की भावनाये आहत हो सकती हैं। मुझे लगा जैसे की कोई हिरोइन या लड़की न्यूड फोटोशूट कराती हैं तो पुरुष वर्ग तहे दिल से से मज़ा लेता है वैसे महिला वर्ग भी आज रोमांचित हो रहा होगा लेकिन ऐसा कुछ तो है ही नहीं उनकी गरिमा को तो ठेस पहुँच गई, भावनाएं दुःखी हो गई ….. अरे बहिन ! दुःखी होना है तो अपने पति की दुबली-पतली या थुलथुल सी बॉडी देख कर होओ। रणवीर की सिक्स पैक वाली बॉडी से कौन सी भावना तुम्हारी चोट खा गई? जब उसकी अपनी बीवी दीपिका पादुकोण की भावनांए नहीं आहत हुई तो तुम्हारी कैसे हो गई ? अरे आपको तो खुश होना चाहिए की जिस चीज़ को आप पसंद करते हैं उसे छूने को ना सही कम से कम देखने को तो मिला। इसके लिए आपको रणवीर सिंह का शुक्रिया करना चाहिए उस पर f.i.r नहीं।

खैर ये तो मजाक की बात थी अब मुद्दे को लेकर कुछ गंभीर बात कहूँ ? 2015 में इंडिया में 817 पोर्न साइट्स ब्लॉक की गई। जिनकी तादात 20-21 यानि कोरोना महामारी के दौरान और कई गुना हो गई। lockdown में सबसे ज्यादा पोर्न सर्च किया व देखा गया। 2021 की एक रिसर्च में अपना भारत गर्व से पोर्न देखने वाले देशों में दूसरे स्थान पर आया था। यहाँ हर किसी के पास अपना फोन हो गया है और उस पर कई परतों में चढ़ाया गया पासवर्ड हो गया हैं और अपनी प्राइविसी हो गई है। जिसका फायदा उठाकर हर 3 में से 1 बंदा अंतरंगता का शौकीन हो गया है। जिसमें से 12-18 साल के जिज्ञासु किशोर सबसे ज्यादा शामिल है। अब ये बताइए ये सब अश्लीलता नहीं हैं ? ये सब क्या रामायण के एपिसोड हैं जो बड़े चाव से देखते हैं आप लोग? नहीं न ! तो फिर इतना हंगामा क्यों कर रहें हैं सामने वाला तो वहीं दिखा रहा है जो आप देखते हैं। मुझे पता है आप लोग( रणवीर के शूट पर शोर मचाने वाले ) उसी कैटेगरी के लोग हैं जो सुबह सुबह परिवार के साथ बैठ कर जब चाय पी रहें होतें है और कोई बिकनी गर्ल दिख जाती हैं तो पेपर फेकते हुए सौ नसीहतें चिपका देतें है” पता नहीं क्या हो गया है समाज को” और झल्ला के अपने कमरे में चलें जाते हैं । घर वाले इधर-उधर होते नहीं की कमरे से झट से निकल के फट से अख़बार कमरे में ले आतें हैं सिर्फ उसी फोटो के लिए। ये सब इतनी जल्दी होता है कि लगता है कोई अकाशीय घटना हुई हो।

moral of the story बॉडी उनकी है उनका जो मर्जी करें अपने साथ अगर कोई आपत्ति उठा सकता है तो वो है रणवीर सिंह के माँ बाप या उसकी पत्नी। तो आप क्यों शोर मचा रहें है क्या आप माँ है उनकी या आप पापा हैं उनके और लड़कियों दीपिका तो तुम कहीं से लग नहीं रहीं ।

3 thoughts on “रणवीर सिंह का न्यूड फोटोशूट न हो गया इंटरनेशनल मुद्दा, जिसमें सबको अपनी राय देनी ही देनी है इतना तो दीपिका …..”

  1. समर्थन अवंतिका मै भी आज कुछ ऐसा ही लिखने वाला था,लेकिन अब जब तुमने लिख ही दिया…चलो आज हमारे विचार कुछ मिले

    Reply

Leave a comment