अधिक उम्र का पुरुष तो लम्बी रेस का घोड़ा अधिक उम्र की स्त्री तो लिल्ली घोड़ी लाल लगाम?

हमारी भारतीय परंपरा में विवाह को सबसे पवित्र बंधन माना गया है। यही वो रिश्ता होता है जिसमें दो व्यक्तियों के साथ-साथ दो परिवारों,दो संस्कृतियों का भी मिलन होता है। इस रिश्ते के बनने में समाज अपनी कुछ शर्तें रखता हैं जिसमें कुंडली मिलना , गुण मिलना, गोत्र आदि का बहुत ही सावधानीपूर्वक ढंग से निरीक्षण- परिक्षण किया जाता है, इन सबसे जरुरी भी कुछ होता है तो वो होती है उम्र। लड़के की शादी की बात उसी लड़की से चलाई जाती है जो उम्र में उससे कम हो ना उसके बराबर ना अधिक उम्र की हो। लड़के की चाहे दूसरी शादी हो , या अधिक उम्र का लड़का हो याकि विधुर हो , लेकिन उसे चाहिए तो कमसिन, अनछुई , नाजुक किस्म की ही लड़की चाहिए। लेकिन अगर यही विचार किसी अधिक उम्र की लड़की , तलाकशुदा या विधवा के हो तो ये उसका सबसे बड़ा पाप माना जाता है उसे कुछ भद्दी गालियों से सम्बोधित किया जाने लगता है । 

ताज़ा उदाहरण अमेरिका की रहने 77 वर्षीय अल्मेडा का है जिनके पति उनसे 54 साल छोटे है। शादी के वक्त अल्मेडा की उम्र 71 व उनके पति की उम्र 17 साल थी। अभी हाल ही में दम्पति ने अपनी शादी की 6वी सालगिरह मनाई और उसकी कुछ फोटोज सोशल मीडिया पर शेयर की उसके बाद से ही लोग कपल को ट्रोल कर रहें हैं।कुछ अपशब्द लिख रहें हैं कुछ हैरान हो रहें हैं। दो दशक पहले इसी अमेरिका में 97 वर्षीय एक बीमार व्यक्ति ने 23 वर्षीय प्रेमिका से शादी की थी और शादी करके घर जाने के बजाय तुरंत हॉस्पिटल जाना पड़ा था। तब सबकी सांत्वना उस नई नवेली दुल्हन के साथ थी। कोई उस बुजुर्ग को कुछ नहीं कह रहा था “क्योंकि पुरुष कभी बूढ़े नहीं होते न ।”

अमेरिका के ये उदाहरण लेकर मैं ये समझाना चाहती थी कि ये समस्या ये पितृसत्तात्मक सोच सिर्फ एक देश का मसला नहीं बल्कि पूरी दुनिया इसकी चपेट में है। अब करते है पाकिस्तान कि बात । वैसे तो वहाँ के उदाहरण में आपको लड़की मिलेगी ही नहीं क्योंकि अधिक उम्र की लड़की कम उम्र के लड़के से प्रेम कर ले तो समझ ही सकते है आप कि उसके साथ क्या होगा । लेकिन पुरुष आपको आराम से दूसरी तीसरी शादी करते मिल जाएँगे । पाकिस्तानी सांसद डॉ आमिर लिकायात हुसैन ने अपनी तीसरी शादी 49 की उम्र में 18 की हुई सादिया दानिया शाह से की थी हलाकि अब दोनों अलग हो रहें है।

अपने भारत की बात करें तो बॉलीवुड के महान अभिनेता, बेइंतहा खूबसूरत नायक उम्दा अभिनय के मालिक रहे युसूफ याने दिलीप कुमार जी ने अपने से 23वर्ष छोटी सायरा बानो से शादी की थी। जो आज भी एक सच्चे रिश्ते की मिशाल हैं। अभी हाल में ही भूतपूर्व क्रिकेटर अरुण लाल जी ने भी अपनी गर्लफ्रेंड बुलबुल साहा से दूसरी शादी की है। लाल जी की उम्र 66 की है और बुलबुल उनसे 28 साल छोटी है। इस शादी के खूब चर्चे हुए ,लोगो ने अरुण जी को दूसरी पारी के लिए शुभकामना दी। किसी को किसी प्रकार का कोई आश्चर्य नहीं हुआ किसी को कुछ भी अटपटा नहीं लगा ।

लेकिन अगर मैं 2018 की बात करुँ तो जो अरुण जी की शादी में ख़ुशी मनाने वाले लोग थे इन्हें ये खटका खा गया कि प्रियंका चोपड़ा अपने से 13 साल छोटे निक जोन्स से कैसे शादी कर सकती है। लोगो ने निक को बच्चा और देसी गर्ल को बुढ़िया कहना शुरू कर दिया। यही लोग जो शाहिद कपूर की शादी उनसे 13 साल छोटी मीरा राजपूत से होने पर जश्न मना रहे थें उनको ये अखर गया कि कैटरिना कैफ ने अपने से 5 साल छोटे विक्की कौशल से कैसे शादी कर ली भला?

हमारे समाज में ऐसे दोगले लोगों के उदाहरण एक नहीं कई मिल जाएँगे । जो दावा तो स्त्री-पुरुष की बराबरी का घोर समर्थक होने का करतें हैं लेकिन जैसे ही नाते-रिश्ते की बात आती है तो तुरंत कम उम्र लड़की की बात करतें हैं। ये कहते हुए कि “देखिये बराबरी अपनी जगह है और परंपरा अपनी जगह।” हमारा समाज ऐसे दोगले लोगों से भरा पड़ा है और जब तक ऐसे दोगले लोग रहेंगे तब तक बराबरी की बात सिर्फ उड़ती हुई अफवाह ही प्रतीत होगी, सामने बिखरी सच्चाई नहीं।

चलिए लोगों का क्या है लोग तो कहते रहते हैं लेकिन क्या हो जब सर्वे भी यही कहे! कहतें है कि पुरुष समाज स्त्री को पहले अपना भावात्मक पहलु दिखाकर फिर भी न माने तो बाहुबल दिखा कर और तब भी न माने तो डर दिखा कर काबू में लाना चाहते हैं। और उनका ये डर वाला अस्त्र हमेशा ही कारगर होता आया है । ऐसा ही डर महिलाओंं को कम उम्र के लड़के से शादी करने से रोकने के लिए भी दिखाया गया । एक जर्मन डेमोग्राफी के अनुसार , “जो महिला अपने पति से 7 से 9 वर्ष या उससे अधिक बड़ी होतीं हैं उन्हें सामान्य महिलाओंं की तुलना में 20% अधिक जान का खतरा होता है।“बताओ रिसर्चर्स के पास क्या यही टॉपिक बचा था रीसर्च करने के लिए? मुझे आश्चर्य नहीं होगा कि जल्द ही एक ऐसी रिपोर्ट प्रकाशित हो जो ये कहे कि ” जो औरतें अपने पति की हर बात मानती है वे दीर्घायु होतीं हैं।” 

देखते है कि ये ड्यूल पर्सनालिटी से ग्रसित सोसायटी कब तक इसी समस्या से ग्रसित रहती है कब इसकी ये वंशानुगत बीमारी दूर होती है और कब मिलती है औरतों को आंख खोलते ही बेड टी।

1 thought on “अधिक उम्र का पुरुष तो लम्बी रेस का घोड़ा अधिक उम्र की स्त्री तो लिल्ली घोड़ी लाल लगाम?”

Leave a comment